खुश कैसे रहें ? बातें जो आपके दिल को छू जाएगी

33
खुश कैसे रहें

वो कहते हैं न की smile में वो strength है, जो difficult condition में भी आपको गिरने नहीं देती है । यदि आप success होना चाहते तो उसका एक condition जो मुझे लगता है वो ये कि आपको खुश रहना चाहिए। खुश रहना इंसान की सबसे बड़ी strength में से एक है। यानि बोला जाए तो आपका खुश रहना आपकी strength है। पर हमारे आस पास कई things ऐसी होती हैं, जिससे जाने अनजाने हम affected होते हैं। हम अपने उस strength को भूल जाते हैं, जो odd situation से बाहर निकाल सकती है। ऐसा नहीं है कि हम happy रहना नहीं चाहते। पर, खुश कैसे रहें , ये बहुत बड़ा question है।
हम इंसान हैं। और इंसान के life में हर तरह के situation का होना natural है। हंसी है तो गम भी होगा ही। तो क्या हम इस truth से मुंह मोड सकते हैं? नहीं। और यदि हम situation नहीं बदल सकते, तो खुश कैसे रहें , ये बड़ा question है ।
विषम परिस्थियों का होना अलग बात है। उस विषम परिस्थिति का मुक़ाबला करना अलग। आप किसी परिस्थिति में क्या सोचते हैं, ये पूरी तरह आप पर depend करता है। यदि आपने smile की art सीख ली, तो situation कुछ भी हो, आप हार नहीं मानेगे।

आखिर खुश कैसे रहें ?

इस question का answer ढूँढने से पहले एक question आपसे। आखिर हम sad कब होते हैं। Answer आसान है। जब बातें हमारे mind मुताबिक होती हैं, तो हम happy होते और जब हमारे विपरीत, तो simple सी बात है, हम sad हो जाते। वस्तुतः, सारा game ही इसी में हैं।
हमारे साथ हमेशा fine ही हो, ये जरूरी नहीं। लेकिन बुरे वक़्त में हमारा behave क्या होगा, ये responsibility हमारी है।
हम अपने छोटी छोटी habits में, मामूली सा changing कर, जीने के तरीके में changing कर सकते हैं। ये परिवर्तन मुश्किल नहीं हैं, बस हमारी nature के कारण ही हम इससे परेशान होते हैं।

कमियों को नहीं, अच्छाइयों को ढूंढें

हमें हमेशा अच्छाई को ढूँढना चाहिए। मेरा मानना है कि world के किसी भी चीज में 100% कमी नहीं हो सकती। हर किसी में अच्छाई जरूर होती है। इंसान कि एक minus point ये होता है कि वो बुराइयों के प्रति ज्यादे attract होता है। हमें, ये try करनी चाहिए, कि हम किसी की कमियों को न ढूंढें।
यदि हम अच्छे कि तलाश करेगे तो सीधी सी बात है कि हमारा सोच positive होगा। जब हम Positive सोचेगे, तो उसका परिणाम भी अच्छा ही होगा।
इसीलिए, किसमें क्या कमी है, ये ढूँढना भूल जाइए। यदि आप किसी से ले सकते हैं तो उनके गुणों को अपनाने कि कोशिश करें। आप देखेगे, आपके mind में उत्साह बढ़ेगा और खुशी महसूस करेगे।
किसी में अच्छाई हम ढूँढना चाहे, तो एक चीज जो हमें रोकती है, वो है हमारा ego। Actually, परेशानी यह है कि हम अपने को इतना high मानते हैं न कि हम खुद को सामने वाले से weak मानने के लिए हम तैयार ही नहीं होते। result क्या होता है ?

लक्ष्य ऊंचा रखें

सबको माफ करें। ये आपको हारने नहीं देगी।

हम अपने opposition के सामने झुकना नहीं चाहते। हम माफ नहीं कर पाते उनको। न ही हम उनसे माफी मांग पाते। और ये जो condition है न, ये हमें mentally कमजोर बनाते हैं। यहाँ तक कि हम खुद को भी माफ नहीं कर पाते। परिणामस्वरूप हम mentally कमजोर बन जाते हैं। और एक बार यदि आप mentally हार मान गए न, तो कभी आप खुद को खुश नहीं रख पाएंगे। इसीलिए, सबसे पहले माफ करना सीखिये और माफी मांगना भी। गुरु, ये quality आ गया न यदि आपमें, तो पक्का आप defeat नहीं होंगे।

ये भी पढ़ें – Bad Time और Problems का सामना कैसे करें ?

अपने दिल की सुने

हमेशा अपने मन की सुनिए। दिल को जो काम पसंद आए वो कीजिये। एक बात पता है Boss! आपका दिल न कभी आपको गलत करने देगा ही नहीं। तो आज से हमेशा अपने दिल की सुने। But कई बार होता हैं न, हमे अपने दिल से अलग भी काम करने पड़ते हैं। तो simple सा फंडा, जो करते हैं न, उसे Heart से कीजिये।
कुल मिलकर बात यह है कि आप जो कुछ भी करते हैं, उसे आपके Heart को allow करना चाहिए। क्योंकि जबरदस्ती का जो Work होता है न, वो कभी Happy नहीं रहने देता आपको।

Goal ऊंचा रखें।

अपने कामों को बड़े Aim से जोड़कर रखे। जब आपके Goal बड़े होते हैं तो उसे पाने की effort भी बड़ी होती है। और जब effort बड़ी हो, तो आप छोटी-छोटी matters को छोडकर चलते हैं, तो आपके path में रुकावट हैं। हमेशा अपने Work को high ambition के साथ देखें।
अपने Life के एक-एक situation की जिम्मेवारी स्वयं लें। जब आप खुद responsibility लेंगे, तो आप कभी भी किसी और को दोष नहीं देगे। ये वो quality है, जो आपके relation को मजबूत बनाता है।

अपने Family को वक़्त दें।

Relation पर ध्यान दें

Relation पर ध्यान देना, बेहद important है। आज के दौर में, हम मशीनों से ऐसा चिपक रहे हैं कि हमें अपने Family और Friends भी phone पे ही दिखते हैं। जो हमारे relations को कमजोर बनाते हैं। उनके लिए time निकालिए। उनसे बातें कीजिये। उनको अपना time दीजिये।
जब आप अपने family के साथ वक़्त बिताते हैं, तो आपको एक सुकून का एहसास होता है। जिसकी imagination मात्र ही आपको खुश कर देता है। और जब आप अपने special को खुश देखते हैं न, तो दिल से बोलिए, आपके चेहरे पे smile आती है या नहीं?
उन्हें Ignore करें, जिनसे आप परेशान हैं। अपना time उन्हें दें, जो आपके special हैं।

किसी से उम्मीद ना करें।

किसी और से expectation रखना हमारे दुखी होने का प्रमुख reason है। आप अपना सर्वश्रेष्ठ देने का effort कीजिये। आप ये try करें कि आपके वजह से किसी के face पर उदासी न हो। सब को happy रखने का effort कीजिये but किसी से ये expectation न करें कि सामने वाला भी ऐसा करेगा।


जितना हो सके, खुशियों को फैलाएँ। कभी भी किसी situation में हिम्मत न हारें।


यदि आपने ये किया तो निश्चित ही आपको Happiness मिलेगी और आप दिल से खुश रहेंगे। और आपके मन में भी ये question नहीं आएगा कि खुश कैसे रहें ?


तो इस Post में हमने जानने की कोशिश की कि आखिर खुश कैसे रहें। उम्मीद है, आपको Post पसंद आया होगा। अपने विचार अवश्य दें। हमें आपके सुझावों का इंतजार रहेगा। धन्यवाद!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.